Dalip Shree Shyam Comp Tech. 9811480287
 
top

खाटू श्याम जी शायरी | श्याम बाबा शायरी | श्याम शायरी हिंदी


Facebook Twitter google+ Whatsapp

श्याम जी की तलाश में कदम खुद निकल गये।
श्याम जी की यादों में अरमान पिघल गये।
खोजते थे श्या मजी को सारे जहान में
पलकें बंद करी तो श्याम जी दिल में ही मिल गये।।
।। जय श्री श्याम।। 


कली को रंग मिला, फूलों को निखार मिला।
बहुत खुश नसीब हूँ मैं, जो मुझे श्याम का दरबार मिला।।
।। जय श्री श्याम।। 


सूरत देखी तेरी तो जादू सा छा गया
मुस्कुराना तेरा श्याम गजब सा ढा गया
नजर से नजर श्याम तुमसे जो मिलाई
तुझे दिल में बसाने का तो मजा आ गया।
।। जय श्री श्याम।। 


उसे जग की क्या दरगार है,
संग जिसके लखदातार है
झूठ रिश्ते हजार हैं, 
एक सच्ची तेरी सरकार है
।। जय श्री श्याम।। 
 



मेरी हर खुशी का नाम मेरा श्याम है। 
मेरी हर सुबह और शाम मेरा श्याम है।
मायावी दुनिया तो तप्ती दोपहर जैसी है।
ठण्डी मीठी छाया सा आराम मेरा श्यामह ै।। 
।। जय श्री श्याम।। 


इस जमाने से कब के हम गुजर गये होते
जीने से पहले ही कब के हम मर गये होते
अगर ना बंधे होते आपके प्रेम के धार्गों से हम
तो ना जाने मोतियों के जैसे कब के हम 
तो ना जाने मोतियों के जैसे कब के हम बिखर गये होते।
।। जय श्री श्याम।।


आंखे खोलू तो चेहरा तुम्हारा हो,
बंद करूं तो सपने तुम्हारे हो,
मर भी जाऊं तो कोई गम नहीं,
अगर लब पर बाबा नाम तुम्हारा हो।
।। जय श्री श्याम।।


दर्द लेकर दिल में हम हर जगह डोलते रहते है।
जो भी मिला राहो में सबसे जय श्री श्याम बोलते रहते है।
मेरे श्याम बाबा की कृपा के बारे में कितना कहूं यारो।
जितनी बार उन्हें देखो उतनी वो कृपा का भंडार खोलते रहते है।
।। जय श्री श्याम।।


हारे की तू खेता जहाज है, हर विपदा का तू इलाज है। 
मेरी बारी क्यों देर करें, क्या मुझसे बाबा नाराज है। 
।। जय श्री श्याम।।


चल मेरे श्याम की नगरी में, तेरे गम के बादल छट जायेगें।
जब छांव मिलेगी बाबा की, तेरे दुखड़े सब कट जायेगें।।
।। जय श्री श्याम।।


bottom